News View All →

स्वास्थ्य विभाग में हुए तबादलों की जांच करने की मांग

By   1 day ago

सराईपाली। जिला स्तर पर स्वास्थ्य विभाग में हुए तबादलों को लेकर स्वास्थ्य कर्मचारी संघ खुलकर सामने आ गया है उसमें व्यापक गडबड़ी और लेनदेन का आरोप लगाते हुए तबादलों क ो निरस्त कर जांच करने की मांग की है। छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के वरिष्ठ उप प्रांताध्यक्ष सैय्यद आसिफ ने उपरोक्त आरोप लगाया है, […]

Read More →

युक्ति युक्तकरण तक तबादले पर रोक का पत्र शासन द्वारा युक्ति युक्तकरण को लेकर शिक्षको में नाराजगी

By   1 day ago

विनोद दास बसना(ग्रामीण)। स्कुलों में शिक्षको की कमी को दूर करने के लिए जिन स्कूलों में अतिशेष शिक्षक है उनका युक्तियुक्तकरण कर समायोजन के द्वारा शिक्षकों की कमी को दूर करने का प्रयास किया जाना था मगर शिक्षकों के विरोध को देखते हुए या युक्तिकरण के होते तक छत्तीसगढ शासन ने इस दौरान किसी भी […]

Read More →

निवाला देकर छीन लिया तो गरीब उबल पड़े

07

By   1 day ago

सराईपाली। सरकार ने चुनाव के पहले दनादन राशनकार्ड बनने दिया लोग विधान सभा के बाद लोक सभा का चुनाव खत्म होते ही राशनकार्ड के सत्यापन के नाम पर गांव गांव में आधे से ज्यदा कार्ड काटे गए। वास्तविक गरीब का जब कार्ड नही बना गरीब सड़कों की लड़ाई के लिए उतर आए, नेतृत्व विहीन इस […]

Read More →

शौचालय का पैसा भी पचा गए लोग

05

By   1 day ago

सराईपाली(कोटद्वारी)। प्रशासन द्वारा गांव गांव में शौचालय निर्माण समिति गठन कर की जा रही है लेकिन इसकी वास्तविकता कुछ और ही बया करती है। प्रशासन के द्वारा खुले स्थान में शौच करना कुपोषण का एक प्रमुख कारण माना गया है लेकिन लगभग पौने 2 लाख की आबादी वाली इस क्षेत्र में लगभग 1 लाख से […]

Read More →

गिधली में राशनकार्ड सत्यापन को लेकर आक्रोश

spll 11 july-01 (2)

By   2 weeks ago

सराईपाली। राशनकार्ड सत्यापन को लेकर गांव में पनप रहे आक्रोश अब जन आंदोलन का रूप ले चुका है। ग्राम पंचायत गिधली के सैकड़ों ग्रामीण शोभराज प्रधान, सुरेश सराफ, हृद्यानंद गढ़तिया, रविचंद विसाल, पुरूषोत्तम बारिक, धर्मेंद्र भोई सहित सैकड़ों ग्रामीणों ने जनपद पंचायत के सीईओ को ज्ञापन सौंपकर पात्र अपात्र की श्रेणी के कार्डो का सत्यापन […]

Read More →

अपात्र लोगों को राशनकार्ड अब गांव गांव में हो रहा है रास्ता जाम

spl 10 july-02

By   2 weeks ago

सराईपाली। ग्राम बिछियां और कोटेनदरहा पंचायत के सैकड़ो महिला और पुरूषों ने घंटो सरसीवां रोड़ को जाम किया, इस मार्ग पर ज्यादा ट्रेफिक न होने से परेशानी कम लोगों को उठानी पड़ी मगर जाम में जुटी कोटेनदरहा की महिलाओं ने अपना आक्रोश पुरी तरह से व्यक्त किया अब तक राशनकार्ड भूखे न मरने के लिए […]

Read More →

किसानों को स्टॉप डेम पर भरोसा स्टॉप डेम किसानों के भरोसे

01

By   2 weeks ago

सराईपाली(कोटद्वारी)। छोटे छोटे नालों में स्टॉप डेम बनाकर पानी की कमी को दूर करने के लिए सरकार ने अनेक स्थानों पर छोटे छोटे प्रोजेक्ट लाए थे इसी के तहत ग्राम छिबर्रा के पास छिबर्रा स्टॉप डेम का निर्माण शासन द्वारा 35 वर्ष पूर्व किया गया था। आरंभ में इस स्टॉप डेम से कालीदरहा और कोकड़ी […]

Read More →

28 करोड के गड़बड़ी पर विभाग की चुप्पी

07

By   2 weeks ago

शासन को लग रहे है चूना अधिकारी पदाधिकारी विनोद दास बसना(ग्रामीण)। सहकारी समिति के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किसानों के दाने दाने धान खरीदा गया इसके लिए महासमुन्द जिले में 81 ग्रामीण सेवा सहकारी समिति को पंजीकृत किया है। वह अब शासन के मापदण्ड के विपरीत खरीदी में कई प्रकार की गड़बडिय़ां कर रहे […]

Read More →

Editorial View All →

दोषी कौन

By   1 day ago

आज की आपाधापी भरी दुनिया में मानव जीवन बिल्कुल अस्त ब्यस्त हो गया है। सुख चैन की जिंदगी पर मानो विराम सा लग गया है,आराम को हराम समझ रहें हैं लोग,इतनी बड़ी दुनिया मे इतने लोग होने के बाजवूद आदमी अपने आप को अकेला समझ रहा है,कहीं उसे यह महसूस नहीं हो रहा है कि […]

Read More →

फर्जी राशनकार्ड के लिए दोषी कौन ?

By   1 day ago

आतंकवाद पाकिस्तान के लिए जिस प्रकार जी का जंजाल बने खड़ा है जबकि आतंकवाद को बढ़ावा देकर पाक भारत के लिए सिरदर्द बढ़ाया था, ठीक उसी प्रकार भाजपा ने सस्ता चांवल और किसानों को बोनस देकर कांग्रेस के लिए मुसीबत बढ़ा दी थी और तीसरी बार सत्ता में काबिज होने में कामयाबी हासिल की है। […]

Read More →

दीवा स्वप्र

By   2 weeks ago

दीवा स्वप्र जिसे जागती आंखों का सपना भी कहा जाता है। विपक्ष का आरोप है कि एन डी ए भारतीय जन मानस को सपना दीखा रही है पहले सपना दीखाकर चुनाव जीता अब बजट प्रस्तुतीकरण में भी कर रही है। कांग्रेस का आरोप सत्य है पर विकास की पहली सीढ़ी भी तो सपना देखते ही […]

Read More →

सवालों के घेरे मे महिला संस्थाएं

By   4 weeks ago

महिलाओं की इज्जत मर्यादा और संस्कृति की रक्षा के लिए साथ साथ नारी सशक्तिकरण के लिए देश मे राज्य मे और केंद्र स्तर पर महिला संस्थाएं गठित की गई है। परन्तु संस्थाएं द्वारा जिन नारी उत्पीडऩ के मुद्दों पर विरोध करना चाहिए वहां नहीं किया जाता और जहां नहीं किया जाना चाहिए वहां किया जाता […]

Read More →

राजनीति है या तानाशाही

By   4 weeks ago

चुनाव से पहले वादों के पुलिन्दे बांधे गये कि अच्छे दिन लायेंगे, जनता का कल्याण होगा किंतु वे केवल वादे थे और भारतीय राजनीति में केवल वादे किए जाते है उन्हें निभाया नहीं जाता। सरकार बदल गई कि ंतु बदहाली जस की तस सीना ताने खड़ी है। महंगाई की समस्या तो मानो चुनाव परिणाम का […]

Read More →

देश गरीब नही

By   4 weeks ago

अब भारत देश गरीब नही है जिस देश में करोड़ो की संख्या में जब अरबपति है वह देश गरीब कैसे हो सकता है। हम जानबुझकर अपने ही देश को गरीब बना रहे है हमारी सोच हमारी मानसिकता व्यक्तिगत है और स्वार्थ से परिपूर्ण है। इस सोच के चलते ही देश कमजोर होता जा रहा है, […]

Read More →

अच्छे दिन किनके कैसे

By   1 month ago

मोदी सरकार के चुनाव पूर्व नारे का फलीभूत होने पर सबकी नजर टिकी है सबको उनका बेसब्री से इंतजार है कि अच्छे दिन आने वाले है। यह बात सबको याद है मीडिया भी इसे मुद्दा बनाने में जुट गया है, अभी माह भर भी नही हुआ है फिर इतनी जल्दी कोई चमत्कार कर कैसे अच्छे […]

Read More →

अव्यवस्था ही अव्यवस्था

By   1 month ago

चारों तरफ अव्यवस्था व्याप्त है कोई अपनी जिम्मेदारी मानने को तैयार नही ही कोई अपनी ड्यूटी कर रहा है। जहां पर उल्लेखनीय कार्य हो रहे हैं उसका श्रेय लेने को होड़ मच जाती है पर अव्यवस्था पर दोष एक दूसरे के सिर मढ़ते देखे जा सकते हैं। इन सबके पीछे है पैसा कमाने की लालच, […]

Read More →

Poetry View All →

संवेदना

By   1 day ago

मैं उन वृक्षों की भॉंति, सुख गया हूॅं, जिनके पत्ते झड़ रहे हैं, और मेरी संवेदना शुल्क। फिर भी मुझे खुशी है, मैं रो रहा हूॅं, कम से कम मेरी आंखों में, ऑंसु तो हैं, और उनकी क्या, जो रोते तक नहीं, प्यासे, दरिन्दे, मैं उनमें से नहीं। मरकम भी जो मुझे देखते तक नहीं, […]

Read More →

राशनकार्ड

By   1 day ago

चुनाव जीतने नेताओं ने राशनकार्ड बनवाया। गली गली गरीबों को व्यर्थ ही दौड़ाया।। क्षणिक स्वार्थ की पूर्ति हेतु अपनाए कई हथकेडे। चुनाव जीतकर घर बैठे वो खा रहे हैं अण्डे, गरीबों पर बरसा रहे हैं तकलीफों के डण्डे।। मुफत में उड़ा रहे हैं शासन के नोट गरीबों के दिलों में कर रहे हैं चोट। गरीबों […]

Read More →

पूरे करो अपने वादे कह रहा है किसान

By   2 weeks ago

किया किसी ने वादा कई से, भर देंगे तिजोरी बोनस से। जब आया वक्त तो कह दिया उसने, अभी भर लो पेट सिर्फ आधे से। सुनकर इन शब्दों को मानव की पीड़ा है गहराई, कहने लगे लोग इस कदर की काट रहे हैं बनके कसाई। यदि न कर पाओ पूरे अपने वादों को तो वादे […]

Read More →

औरों के वास्ते

By   2 weeks ago

जिंदगी मिली है कुछ करने के वास्ते खुशी मिले चाहे गम, चाहे मिले कांटो भरे रास्ते। भुल के अब अपनी खुशियां, जीना है तुझे दुसरों के वास्ते। कदम से कदम तु बढ़ाता जा, मत समझ चारों तरफ तेरे अंधेरा है। जरा आंखे खोल कर तो देख, सामने तेरे छुपा सवेरा है। रूकना नहीं तु कहीं […]

Read More →

क्या लिखूं ?

By   2 weeks ago

जिक्र भी करदूं मोदी का तो खाता हूँ गालियां अब आप ही बता दो मैं इस जलती कलम से क्या लिखूं ? कोयले की खान लिखूं या मनमोहन बेईमान लिखूं ? पप्पू पर जोक लिखूं या मुल्ला मुलायम लिखूं ? सी बी आई बदनाम लिखूं या जस्टिस गांगुली महान लिखूं ? शीला की विदाई लिखूं […]

Read More →

धीरज कइसे बंधावंव

By   4 weeks ago

धीरज कइसे बंधावंव बिलखत परान के जेकर हितवा मरत हावंय मितवा छुटत हावंय खटिया मं लटके सियान के धीरज कइसे बंधावंव जेकर जिनगी के संगवारी नइये चहकत अंगना किलकारी नइये आंसू के पार बांधही कइसे कइसे ओला मनावंव धीरज कइसे बंधावंव जेन ला टूटत देख नइ सकंव जेन ला रोअत नई छोड़ सकंव अइसने संगवारी […]

Read More →

ऊपरवाले का पैगाम

By   4 weeks ago

दुनिया में बाईज्जत बस उसी का नाम आऐगा, जिंदगी भर जो औंरो के काम आऐगा। चंद बातें जब कर लेगा बेसहारों से, ऊंची ऊंची दुआओं का तुझको सलाम आऐगा। बदन के सारे उजले कपड़े हो जाऐगा स्याह रंग के, जिस घड़ी तेरे सर कोई ईल्जाम आएगा। मेरा ये आखरी लहू मुल्क के काम आ जाने […]

Read More →

चिंता

By   4 weeks ago

मैं चिंतित हूॅं, चिंता के लिए, मेरे अंदर चिंता है, सिर्फ चिंता….? चिंता का विषय है, चिंता…….? चिंता का आधुनिक परिवेश क्या है? चिंता…….। चिंता सब में है या केवल मुझमें, मुझे कभी दिखाई देता है, कभी नहीं, चिंता………. एक विषय है। लक्षण स्पष्ट है, रोग चिंता चिंता पहचान, बस चिंता। स्त्री कष्ट, पुरूष कष्ट, […]

Read More →

Hit Counter provided by Skylight